वृक्ष का तना गिरा मोटरसाइकिल चालक के ऊपर, बेहोशी कि हालत में घायल को वन विभाग के करिंदों ने ही कराया हॉस्पिटल में एडमिट – 9 महीने पहले भी निकट ही एक मोटरसाइकिल चालक गुरपाल सिंह पर गिरा था सफेदे का मोटा तना, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी थी….

जालंधर, 12 जून, प्रदीप अवस्थी : मकसूदा में स्थित वन विभाग के दफ्तर के बाहर सफेदे के पेड़ का मोटा तना अचानक गिर गया जिसके चपेट में आने से मोटरसाइकिल चालक के सर में चोट आई है और मौके पर वह बेहोश हो गया था। वन विभाग के मुलाजिमों द्वारा घायल को निकट के हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया।

जानकारी अनुसार वन पाल दफ्तर वेस्ट सर्कल मकसूदा के बाहर अचानक सफेदे के पेड़ का मोटा तना सड़क में जा गिरा उस समय गुजर रहे बलजिंदर सिंह पुत्र नगेंद्र सिंह उसकी चपेट में आ गई जो घायल अवस्था में मौके में बेहोश हो गया। वनपाल दफ्तर के मुलाजिमों द्वारा निकट के हॉस्पिटल में घायल को भर्ती कराया गया। घायल बलजिंदर सिंह ने बताया कि वह सब्जी मंडी में काम करता है और निकट के पेट्रोल पंप से पेट्रोल डलवा के मंडी वापस जा रहा था, उसी समय पेड़ का तना उनके ऊपर आ गिरा।
इसी जगह रोज पुलिस का नाका भी लगता है, जहां पुलिस मुलाजिमों के अलावा अक्सर कागज चेक करवाने के लिए कई दो पहिया वाहन चालक भी खड़े होते हैं पर आज किसी कारण से नाका नहीं लगाया गया था, अन्यथा बड़ा हादसा भी हो सकता था। गौरतलब है कि 6 सितंबर 2017 को मोटरसाइकिल चालक गुरपाल सिंह पुत्र अमरजीत निवासी फलोर के ऊपर भी यही निकट सफेदे के पेड़ का मोटा तना गिरा था जिस की मौके पर मौत हो गई थी। वन विभाग द्वारा यदि मौके पर सड़क के ऊपर इस तरह के पेड़ के तनों को काटा जाए तो यह हादसे होने से बच सकते हैं। इस बाबत वन विभाग के रेंज अफसर अमरजीत सिंह बाजवा ने कहा कि बरसात होने के कारण वृक्ष के अंदर का हिस्सा नरम हो जाता है और जब उस पर धूप पड़ती है तो वह अकड़ जाता है जिस दौरान अंदर का हिस्सा खोखला सा हो जाता है और वह टूट जाता है।
बरहाल इस तरह के हादसों को रोकने के लिए वन विभाग द्वारा कड़े कदम उठाए जाने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.