गरीबी की बड़ी समस्या का ऐसे हल निकाला चीन ने, क्या मोदी भी अपनाएंगे ये तरीका….

गरीबी और बेरोज़गारी से निपटने के लिए चीन अब कड़े कदम उठाने जा रहा है. 2018 में चीन ने लगभग 6.5 फीसदी ग्रोथ रेट का टारगेट तय किया है. इसी तरह चीन ने महंगाई को लगभग 3 फीसदी के स्‍तर पर बनाए रखने का लक्ष्‍य रखा है.

चीन के शहरों और कस्बों में में इस साल 1 करोड़ 10 लाख से भी ज्यादा नए रोज़गार के मौके होंगे. बेरोज़गारी दर को चीन ने 5 फीसदी के आसपास रखने का लक्ष्‍य रखा है.

चीनी प्रधानमंत्री का दावा है कि पिछले पांच सालों में चीन में गरीब लोगों की संख्‍या में 6.8 करोड़ की कमी आई है. गरीबी उन्मूलन प्रोग्राम के तहत 83 लाख लोगों को स्थानांतरित किया गया है. गरीबी दर 10.2 फीसदी से 3.1 फीसदी तक कम की गई है.

चीनी नागरिकों की आमदनी हर साल 7.4 फीसदी की दर से बढ़ रही है, जो देश की आर्थिक विकास दर से भी ऊंची है.

चीन मिडिल क्‍लास के मामले में विश्व का सबसे बड़ा देश बन गया है. चीन में विदेश यात्रा करने वालों की संख्या 8.3 करोड़ से बढ़कर 13 करोड़ तक पहुंच गई है.

90 करोड़ से अधिक लोगों और 1 अरब 35 करोड़ 50 लाख लोगों को सामाजिक बीमा और बुनियादी चिकित्सा बीमा का लाभ मिला है.

चीन में विश्व में सबसे बड़े सामाजिक गारंटी नेट की स्थापना की गई है. चीन में औसत व्यक्ति की जीवन-अवधि 76.7 तक पहुंच चुकी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.